Saturday, June 06, 2009

कृपया महिलायें इसे ना पढें

दोस्तों,

अगर आप अपने ब्लाग या अपनी वेबसाईट पर अपनी "उम्र" बताना चाहते हैं, जो कि हर रोज, खुद-ब-खुद "अपडेट" होती रहे, अरे बिल्कुल वैसे ही जैसे मैने अपने ब्लाग पर लगाई है, अरे॥!! देखो ना, सीधे हाथ की पट्टी में। दिखा??

तो फ़िर देर किस बात की ये लो छोटी सी जावास्क्रिप्ट (जावास्क्रिप्ट) जिसे कि आप किसी भी वेब पेज पर लगा सकते हैं।
----------------------------------------------------
<div id="vkwage"></div>
<script type="text/javascript"><!--
function daysInLastMonth(m,y) {
m-=2;
if(m<0){m=11;y-=1;}
return 32-new Date(y,m,32).getDate();
}
function getAge(y,m,d) {
var todaysDate = new Date();
var ty = todaysDate.getFullYear();
var tm = todaysDate.getMonth() + 1;
var td = todaysDate.getDate();
var dilm = daysInLastMonth(tm,ty);
var age = "";
var yd = ty - y;
var md = tm - m;
if(md<0) {
yd -= 1;
md = (12 - m) + tm;
}
var dd = td - d;
if(dd<0) {
md-=1;
dd = (dilm - d) + td;
}
if(yd > 0) {
age += yd + " वर्ष";
}
if(md>0) {
age += " " + md + " माह";
}
if(dd>0) {
age += " " + dd + " दिन";
}
return age;
}
var o=document.getElementById("vkwage");
o.innerHTML="जन्म हुये: "+ getAge(1977,3,29);
//--></script>
----------------------------------------------------


तो बस, आपको करना यह है कि ये उपर दी गई स्क्रिप्ट कॉपी करके अपने वेबपेज में पेस्ट करना है और हाँ यह जो लाल रंग में है वह आपका जन्म दिनांक है (वर्ष, माह, दिन)।

माह - जनवरी-१,फ़रवरी-२...

थोड़ा बहुत फ़ेरबदल करके इसे आप अपने पेज जैसा, और जैसा चाहिये वैसा आउटपुट ले सकते हैं (बशर्ते आपको थोड़ी बहुत जावास्क्रिप्ट आती हो)। script tag में चाहे जितनी बार आप वो document.write... लाईन लिख सकते हैं, अलग अलग dates के साथ।


हाँ, और आप महिलायें, आप अपने बजाये अपने किसी भी निकटतम का जन्मदिनाँक या फ़िर कोई महत्वपूर्ण दिनाँक इस्तेमाल कर सकती हैं।


बड़ा नोट: मैने पोस्ट का शीर्षक यूँ ही महिलाओं को भी यहाँ तक लाने के लिये ही दिया था।

ही...ही...ही



छोटा नोट: इस पोस्ट के टाईटल को महिलाओं के उम्र-छिपाओ-स्वभाव को लेकर किया गया स्वस्थ मजाक ही समझा जाय।

15 comments:

सागर नाहर said...

मजेदार स्क्रिप्ट, जल्द ही इसे अपने ब्लॉग पर लगाते हैं।
धन्यवाद विजय भाई।

Anonymous said...

हाँ, और आप महिलायें, आप अपने बजाये अपने किसी भी निकटतम का जन्मदिनाँक या फ़िर कोई महत्वपूर्ण दिनाँक इस्तेमाल कर सकती हैं।


बड़ा नोट: मैने पोस्ट का शीर्षक यूँ ही महिलाओं को भी यहाँ तक लाने के लिये ही दिया था।

ही...ही...ही

ek niyahayat hi bakvaas mansiktaa ka parichay diyaa haen aapne

विजय वडनेरे said...

मेरे ananymous दोस्त,

अपने browser में text size largest करें और मेरे पोस्ट में सबसे आखिरी paragraph भी पढ़ें।

नहीं पढ पा रहे तो १-२ तरीके और हैं:
१. बिल्लौरी काँच ले आयें।
२. आँखों के डाक्टर के पास जायें।
३. किसी "पढे-लिखे-समझदार" से पढवा लें।

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुंदर .
धन्यवाद

Anonymous said...

maene wahii aakri paraa apne kament mae paste kiya haen jisko aap mujhsaey padhen ake liyae keh rahey haen .
kament aap pura padh laaetey yaa
नहीं पढ पा रहे तो १-२ तरीके और हैं:
१. बिल्लौरी काँच ले आयें।
२. आँखों के डाक्टर के पास जायें।
३. किसी "पढे-लिखे-समझदार" से पढवा लें।

kyuki aap ko agar apni post par traffic chahiyae to kam sae kam mahil ka istmaal karke naa laaye . shyaad aap ko pataa hoga jo log mahila kaa istmaal karkae apni jindig chalaatey haen unhay hamaara samaaj d.... kehataa haen

रंजन said...

काम की चिज है.. धन्यवाद..

sareetha said...

आइडिया अच्छा है , लेकिन यूँ हर रोज़ हर पल इस नश्वर देह की समाप्ति की उल्टी गिनती करने का क्या फ़ायदा ? हर पल यहाँ जी भर जियो ।

अविनाश वाचस्पति said...

दूसरा बतलायें
जिसमें बाकी कितना बचा है
वो नजर आए
हर पल सब पल

विजय वडनेरे said...

@anonymous दोस्त:
मेरी पोस्ट का आखिरी पैरा आपकी सुविधा के लिये यहाँ दे रहा हूँ:

छोटा नोट: इस पोस्ट के टाईटल को महिलाओं के उम्र-छिपाओ-स्वभाव को लेकर किया गया स्वस्थ मजाक ही समझा जाय।

विजय वडनेरे said...

@sareetha ji: वैसे देखें तो यह उलटी गिनती नहीं करता, क्योंकि हम 'आखिरी' दिनाँक नहीं दे रहे, शुरुआती दिनाँक देते हैं। तो एक तरह से यह काउंटर हमें यह बयायेगा कि हमने 'कितने' दिन सफ़लता से जी लिये हैं। नहीं क्या?? :)

@अविनाश जी: जैसे ही समय मिलता है, वह वाला भी बना दुंगा। थोड़ा इंतज़ार करें।

गिरिजेश राव said...

नहीं चलता। कुछ गड़्बड़ है

विजय वडनेरे said...

गिरिजेश जी: गड़बड़ दुरुस्त कर दी गई है।
दरअसल पोस्ट करते समय कुछ जावास्क्रिप्ट कोड ब्लागर सेटिंग्स के कारण अपने आप हिन्दी हो गया था, और कुछ अक्षर मिक्सअप हो गये थे।

गड़बड़ी सामने लाने के लिये धन्यवाद।

Anjul Sahu said...

sahi jawab diye hain aapne apne anonymous mitra ko. Pata nahi usne kyun nahi dikh raha jo sabko dikh raha hai !!!

vishnu said...

script thik hai bhai thank;s

BOND said...

HAME TO SAB KE SAB BEWKOOF LAG RAHE HAIN